Ek Raat Aur Samaapti: Do Kahaniyan - Book Published by Orient Paperbacks

Ek Raat Aur Samaapti: Do Kahaniyan

Rabindranath Tagore | ISBN:

  • ₹ 50.00


एक रात

एक ऐसे अबोध युवक की कहानी जो पहले अपने प्रेम को समझ नहीं पाया और जब जाना-समझा तो बहुत देर हो चुकी थी। फिर एक ही रात में उसका पूरा जीवन सार्थक कैसे बन जाता है...?

समाप्‍ति
पति अपनी पत्‍नी के प्रेम में आसक्‍त है; पत्‍नी अनजान है या अबोध वह नहीं जानता... पर पत्‍नी का मन जीतने के लिये अटल है, आत्‍म-संयमित है; वह अपने कर्त्तव्‍य एवं अधिकार समझता है और दाम्‍पत्‍य जीवन की नैतिक मर्यादाएं भी... क्‍या ऐसा एक तरफा प्रेम सफल हो सकता है? एक ऐसे पात्र की कहानी जिसकी मृत माँ अपने पुत्र के नैतिक मार्ग से विचलित होते ही उसके कवच का रूप धारण कर लेती है।

  

We Also Recommend