Urdu Shayari

Prakash Pandit

Regular price ₹ 160.00

उर्दू शायरी को लोकप्रिय बनाने में प्रकाश पंडित का महत्त्व और आपार योगदान है।

बीसवीं सदी के उत्तरार्द्ध में प्रकाश पंडित परतिष्ठत प्रकाशन संस्थाओं - राजपाल, हिन्द पॉकेट बुक्स और ओरिएंट पब्लिशिंग - के विशिष्ट संपादक थे। चूँकि वह उर्दू शायरी के विद्वान और प्रशंसक भी थे, उन्होंने उर्दू शायरी को आम पाठकों के बीच लोकप्रिय बनाने का निर्णय किया; नये पुराने नामी शायरों की शायरी का देवनागरी (हिंदी) में लिप्यंतरण किया और हिंदी में उर्दू शायरी के अनेक संकलन प्रकाशित किये। प्रत्येक पुस्तक लाखों की संख्या में बिकी और आज तक बिक रही है।

उन्होंने अपनी पुस्तकों में उर्दू के कठिन शब्दों के अर्थ देकर तथा अवशयक्तानुसार टिप्पणियां लिखकर आम आदमी के लिये उर्दू शायरी को अर्थपूर्ण और लोकप्रिय बनाया। उनके द्वारा सम्पादित पुस्तकें विश्वभर में शायरी प्रेमियों में बेहद लोकप्रिय हुई । हिंदी साहित्य को ग़ज़ल की विधा से परिचित कराने के उनके श्रेय को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

प्रस्तुत पुस्तक उनकी अंतिम दो पुस्तकों में से एक है; दूसरी है उर्दू ग़ज़लें : उस्ताद शायरों की यादगार शायरी।

उर्दू शायरी